ऐसा क्या हुआ उस दिन जो Wing Commander Abhinanadan पाकिस्तान की गिरफ्त में आये?

ऐसा क्या हुआ उस दिन जो Wing Commander Abhinanadan पाकिस्तान की गिरफ्त में आये?

नमस्कार,

Wing Commander Abhinandan की बहादुरी के चर्चे आज हर तरफ है| 27 फ़रवरी को उनका Mig पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में गिरने से पहले Abhinandan ने जबरदस्त बहादुरी दिखाई| अभिनन्दन Mig-21 उड़ने के मास्टर माने जाते हैं| उनके साथियों ने बताया की पाकिस्तान को जवाब देने का जिम्मा उनको सौपा गया था| पाकिस्तान के साथ 27 फ़रवरी को सुबह सुबह टकराव शुरू हुआ| टकराव जम्मू कश्मीर के नवशेरा सेक्टर में हुआ| ये इलाका पाकिस्तान से सटी नियंत्रण रेखा के सटीक है| मोर्चे पर तैनात उनके साथियों के हवाले से economic times  ने लिखा है, की टकराव कैसे शुरू हुआ| ET के मुताबिक पाकिस्तान एयरफोर्स के दस Air Craft नियंत्रण रेखा के पास दिखाई दिए| उनकी हरकत ऐसी थी की वे भारत के सैन्य ठिकानों की तरफ बढ़ते नजर आये| इस पर भारत की ओर से जवाबी कार्यवाही का quick decision लिया गया| भारत की तरफ से दो Mig-21 फाइटर जेट और सुखोई-30 लड़ाकू विमानों से लैस लांच किये गए| इनको निगरानी के लिए भेजा गया| बताया जा रहा है की भारत की और से गए अभिनन्दन ने Mig-21 से भारत में घुसपैठ कर रहे पाकिस्तानी जेट F-16 का पीछा किया और पाकिस्तानी जेट पर एक काम दूरी की मिसाइल R-73 दाग दी| इससे पाकिस्तानी विमान ध्वस्त हो गया और वो जलता हुआ नीचे जा गिरा|

Picture of Wing Commandar Abhinandan

इसी भिड़ंत के दौरान अभिनन्दन का Mig-21 नियंत्रण रेखा के पार हो गया| पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भारतीय विमान दिखते ही पाकिस्तानी सेना ने हरकत दिखाई| और फिर पाकिस्तानी सेना की तरफ से अभिनन्दन के मिग-21 पर भी हमला किया गया| इसमें मिग-21 तो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में गिरा ही साथ में अभिनन्दन भी पैराशूट से वह नीचे गिरते हुए देखे गए| ET के मुताबिक पाकिस्तानी जेट दो सीटर थे| इन्होंने तीन अलग अलग एयरबेस से उड़ान भरी थी| ये भारतीय सैन्य ठिकानों को कोई नुकशान नहीं पहुंचा पाए| और इस बात के पुख्ता सबूत हैं की पाकिस्तानी विमान F-16 मार गिराया गया है| एक अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तानी विमान F-16  को हमारे विमान मिग-21 में engage किया था| जमीन पर मौजूद लोगों ने पाकिस्तानी जेट को गिरते हुए देखा था|

अब अगला कदम क्या होगा?

लाइन ऑफ़ कन्ट्रोल के पार मिग-21 छतिग्रस्त होकर गिरा| और पाकिस्तानी सैनिकों ने अभिनन्दन को गिरफ्तार कर लिया| मगर पाकिस्तान को अब भारतीय पायलेट अभिनन्दन को भारत को लौटना होगा| जानकारों के मुताबिक अगर पाकिस्तान आगे की लड़ाई नहीं चाहता है तो पाकिस्तान को अभिनन्दन की सुरछित वापसी जल्द से जल्द करनी होगी|

जिनेवा सम्मलेन में सेनाओ के गिरफ्तार सैनिकों और घायल लोगों के साथ कैसा बर्ताव करना है इसको लेकर कई प्रकार के दिशा निर्देश है| जिनेवा सम्मलेन के Article 3 मुताबिक युद्ध के दौरान लड़ाकुओं के घायल होने पर अच्छा इलाज करना होगा| गिरफ्तार सैनिक के साथ बर्बर व्यवहार नहीं किया जा सकता|

उम्मीद करता हूँ कि आपको यह article अच्छा लगा होगा| कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक तथा व्हाट्सप्प पर शेयर जरूर करें|

धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *